logo
Latest

चारधाम यात्रा मार्ग का कोर एरिया आठ जोन और 28 सेक्टर में बंटा, जानिए नया रूट प्लान


देहरादूनः उत्तराखंड में कोरोना काल के 2 साल बाद खुले चारधाम यात्रा में यात्रियों के पहुंचने का सिलसिला जारी है। हर दिन धामों में पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या नया रिकॉर्ड बना रही है। ऐसे में जाम के झाम और हादसों को रोकने के लिए शासन ने विशेष यातायात प्लान लागू किया है। जिसके तहत चारधाम यात्रा मार्ग के कोर एरिया को आठ जोन और 28 सेक्टर में बांटा गया है। इस क्षेत्र में रात 10 बजे से तड़के चार बजे तक यात्रियों के वाहन नहीं चलेंगे। इसके अलावा इस क्षेत्र में तीन पहिया वाहनों का संचालन नहीं होगा। कई जगह दबाव बढ़ने पर रूट डायवर्ट करने की भी तैयारी है। हरिद्वार से व्यासी के बीच का मार्ग यातायात के दृष्टिगत कोर एरिया है।

यह है जोन और सेक्टर व्यवस्था

  • हरिद्वार के शंकराचार्य चौक से पंतदीप पार्किंग तक के मार्ग को प्रथम जोन बनाया गया है।
  • जयराम मोड़ से सप्तऋषि फ्लाईओवर तक दूसरा जोन है। इसमें छह सेक्टर बनाए गए हैं।
  • देहरादून के रायवाला क्षेत्र के सप्तऋषि बॉर्डर से लालतप्पड़ तक एक जोन और ऋषिकेश के नेपाली फार्म से चंद्रभागा पुल तक के मार्ग को तीसरा जोन बनाया गया है। इनके अंतर्गत सात सेक्टर आएंगे।
  • टिहरी में यात्रा मार्ग पर अधिक दबाव रहता है। यहां ढालवाला, मुनिकीरेती और तपोवन से व्यासी तक के मार्ग पर तीन जोन रहेंगे। इसमें कुल 10 सेक्टर बनाए गए हैं।
  • पौड़ी जिले के अंतर्गत लक्ष्मण झूला में एक जोन और पांच सेक्टर रहेंगे।

दबाव बढ़ने पर रूट डायवर्जन व्यवस्था

  • -यातायात दबाव अधिक होने पर बाहरी राज्यों से आने वाले वाहनों को सप्तऋषि-रायवाला-नेपालीफार्म-श्यामपुर चौकी-नटराज चौक-ढालवाला चौकी-भद्रकाली-तपोवन तिराहा-तपोवन चौकी-ब्रह्मपुरी-शिवपुरी से गंतव्य की ओर भेजा जाएगा।
  • ऋषिकेश के श्यामपुर रेलवे क्रासिंग पर अधिक दबाव होने पर वाहनों को सप्तऋषि-रायवाला-नेपालीफार्म-लालतप्पड़-भानियावाला-रानीपोखरी- नटराजचारधाम यात्रा मार्ग का कोर एरिया आठ जोन और 28 सेक्टर में बंटा, जानिए नया रूट प्लान चौक-ढालवाला चौकी-भद्रकाली-बाईपास रोड होते हुए तपोवन तिराहा-तपोवन चौकी-ब्रह्मपुरी-शिवपुरी से गंतव्य की ओर भेजा जाएगा।
  • श्रद्धालुओं को यात्रा पूरी करने के बाद शिवपुरी/नीलकंठ-ब्रह्मपुरी तिराहा-गरुड़चट्टी-बाईपास रोड होते हुए पशुलोक बैराज-चीला से हरिद्वार की ओर भेजा जाएगा।

बाहर से आने वाले वाहनों के लिए रूट

  •  दिल्ली-मेरठ से आने वाले हल्के वाहन मुजफ्फरनगर, मंगलौर से नगला इमरती राष्ट्रीय राजमार्ग-334 से रुड़की बाईपास के रास्ते कोर कॉलेज से ख्याति ढाबा के सामने से हरिद्वार होते हुए ऋषिकेश पहुंचेंगे।
  • यमुनानगर-सहारनपुर से आने वाले वाहनों को भगवानपुर से इमलीखेड़ा होते हुए बहारदाबाद की ओर से हरिद्वार की ओर भेजा जायेगा।
  • मुरादाबाद-बिजनौर-नजीबाबाद से आने वाले हल्के वाहन चंडी चौकी से हरिद्वार होते हुए ऋषिकेश की ओर भेजे जाएंगे।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) अशोक कुमार के निर्देश पर पुलिस मुख्यालय की ओर से चार धाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। ऐसे में अब चारधाम यात्रा मार्ग पर यातायात की निगरानी कंट्रोल रूम ऋषिकेश और मुनिकीरेती से की जाएगी। यात्रियों के वाहनों का आवागमन रात दस से तड़के चार बजे तक प्रतिबंधित रहेगा। इन रूटों पर भारी वाहनों का आवागमन सुबह छह से रात दस बजे तक बंद रहेगा। ई-रिक्शा/तिपहिया वाहन हर समय प्रतिबंधित रहेंगे।

TAGS: No tags found

Video Ad



Top