logo
Latest

खतरे में हैं यमकेश्वर,आमड़ी गांव के 35 में से 20 घर।


20 नाली खेत बहे, 500 मीटर पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त।

ब्यूरो/ त्तराखंड लाइव :  मूसलाधार बारिश के चलते यमकेश्वर ब्लॉक आमड़ी गांव में भी हालात बद से बदत्तर हो गए हैं। भूस्खलन के चलते गांव के करीब 35 में से 20 परिवारों के घर ढहने की कगार पर पहुंच गए है। घर आंगन व दीवारों पर मोटी दरारें नजर आने लगी है। ग्रामसभा द्वार ग्रमीणों को पंचायतघर में शिफ्ट करने की कवायद चल रही है।

जिला पौड़ी के ब्लॉक यमकेश्वर प्रखंड में लगातार हो रही बारिश से क्षेत्र में भू—स्खलन व भू—कटाव का सिलसिला जारी है। ग्रामसभा आमड़ी के तल्ली व मल्ली तोक गांव के ग्रामींण कृष्ण किशोर, बलराम कपरूवान, नंद किशोर, गौरव कपरूवान सहित 20 परिवारों के घर के नीचे बुनियाद की मिट्टी धंसने से मकान के फर्श व आंगन फट गए हैं। जबकि दीवारों पर मोटी दरारें आ गई हैं। इनमें पूर्णीदेवी के मकान का अधिक धंसाव होने से उन्हें पंचायत घर में रखा गया है। इसके अलावा गांव के लगभग 20 नाली खेत पूरी तरह से भू—स्खल की जद में आकर ढह गए हैं। जबकि क्षेत्र की 400 से 500 मीटर पेयजललाइन क्षतिग्रस्त हो गई है। जिससे ग्रामीण अब जमीन से फूट रहे प्राकृतिक जल श्रोतों से जलापूर्ती कर रहे हैं। जानकारी देते हुए धनंजय कपरूवान ने बताया कि क्षेत्र में लगभग सभी 35 परिवार प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से खतरे की जद में है। लेकिन 20 घरों के हालात बेहद डरा देने वाले हैं। हम लगातार जिला प्रशासन के संपर्क में हैं, जो घर खतरे की जद में है उसके निवासी को पंचायतघर में रखा जा रहा है। बताया कि गांव—गांव को जोड़ने वाले संपर्क मार्ग भी टूटकर बह गए हैं।

 

TAGS: No tags found

Video Ad



Top