logo
Latest

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की


देहरादूनः उत्तरराखण्ड प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरदार बल्लब भाई पटेल जी की पुण्यतिथि पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें भावभीनि श्रद्वाजंलि अर्पित की। कार्यक्रम में कांग्रेसजनों ने भारत रत्न स्व0 सरदार बल्लभ भाई पटेल द्वारा देश के लिये किये गये बलिदान को याद करते हुये सम्पूर्ण समाज को उनके बताये मार्ग पर चलने का अवाह्न किया।

इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष संगठन/प्रशासन मथुरा दत्त जोशी ने कहा कि भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और लौहपुरूष कहे जाने वाले सरदार बल्लभ भाई पटेल ने भारत की आजादी और भारतीय रियासतों को भारतीय संघ में मिलाने में अपना अहम योगदान दिया था। सरदार पटेल भारत के पहले उप प्रधानमंत्री और भारत के पहले गृहमंत्री भी थे। देश की आजादी में उन्होंने जितना योगदान दिया, उससे कहीं ज्यादा योगदान उन्होंने आजाद भारत को एक सू.त्र में बांधने में किया था। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि लौह पुरूष पटेल जी के अनमोल वचन आज भी हमारे प्रेरणा के श्रोत्र बने हुए हैं। उन्होंने कहा था कि हर नागरिक की मुख्य जिम्मेदारी है कि वह महसूस करे कि उसका देश स्वतंत्र है देश की रक्षा करना उसका कर्तब्य है, भारत एक उत्पादक देश है कोेई भी अन्न के लिए ऑसू बहाता हुुआ भूखा ना रहे, इस मिट्टी में कुछ खास है जो कई बाधाओं एवं अवरोधों के बावजूद हमेशा महान आत्माओं का निवास रहा है, भले ही हम लाखों की संम्पत्ति खो दें और हमारा जीवन बलिदान हो जाए, हमें मुस्कराते हुए रहना चाहिए, ईश्वर और सत्य में अपना विश्वास बनाए रखना चाहिए। जब जनता एक हो जाती है तब उसके सामने कू्रर से कू्रर शासक भी शासन में नही टिक सकता, अतः जात-पात, ऊॅच नीच के भेदभाव को भूलाकर सब एक हो जाइए, आपकी भलाई आपके रास्ते में बाधा है इसलिए अपनी आंखों को गुस्से से लाल होने दे और अन्याय के साथ मजबूती से लड़ने की कोशिश करें जैसे महान अनमोल विचार देश की जनता को दिये हैं। हमें उनका अुनशरण करते हुए देश की तरक्की के लिए काम करना है।
इस अवसर पर महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ. जसविन्दर सिंह गोगी ने कहा कि देशी रियासतों के विलय में सबसे अधिक योगदान पेटल जी का था। नीतिगत दृढ़ता के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने पटेल को ’’सरदार और लौह पुरूष की उपाधि दी थी इसके बाद से ही उनको लौह पुरूष के नाम से जाना जाने लगा। उन्होंने कहा कि छोटी बडी रियासतों को आजाद भारत में रहने का फैसला, बड़ी जनसंख्या और राज्यों का एकीकरण बल्लभ भाई पटेल के जीवन की सबसे बडी उपलब्धि में से एक थी। श्रद्वाजंलि देने वालों में प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री नीवन जोशी, मुख्य प्रवक्ता गरिमा माहरा दसौनी, प्रवक्ता शीशपाल सिंह बिष्ट,राजेश चमोली, मोहन काला, महिला कांग्रेस की अध्यक्ष ज्योति रौतेला, आशा मनोरमा डोबरियाल उर्मिला थापा, सुशीला शर्मा, जितेन्द्र बिष्ट, अनूप पासी आदि लोग उपस्थित थे।

TAGS: No tags found

Video Ad


Top