logo
Latest

शहर के अवैध निर्माण पर होगी ड्रोन की नजर।


देहरादून/उत्तराखंड लाइव: मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण (एमडीडीए) ने अपने क्षेत्र के अंतर्गत अवैध निर्माण चिन्हित करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करने का निर्णय लिया है। जल्द ही यह काम किसी निजी कंपनी को सौंपा जाएगा।

एमडीडीए के उपाध्यक्ष बृजेश कुमार संत ने हाल ही अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई को लेकर एक बैठक ली।

जिसमें उन्होंने संबंधित अधिकारियों, कर्मचारियों को निर्देश दिए हैं कि प्राधिकरण के अंतर्गत जहां भी बिना नक्शा पास करवाए निर्माण कार्य चल रहे हैं।

उन्हें चिह्नित करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करें। उन्होंने संबंधित कर्मचारियों को भी निर्देश दिए कि वह अपने कार्यक्षेत्र में चिह्नित अवैध निर्माण के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें।

उधर एमडीडीए एक तरफ अवैध निर्माण चिह्नित करने को अभियान चलाने की बात कह रहा है।

दूसरी तरफ चालान काटने के बावजूद अवैध निर्माण ध्वस्त नहीं किया जा रहा।

 

सहस्त्रधारा रोड पर पैसेफिक गोल्फ के बाहर सड़क के किनारे अवैध रूप से बनीं 12 दुकानों के खिलाफ एमडीडीए ने चालान के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की।

राजपुर क्षेत्र में और मसूरी डायवर्जन से लेकर मसूरी तक कई जगह प्लाटिंग के साथ व्यवसायिक भवनों का निर्माण धड़ल्ले से जारी है।

वहीं पहले भी ड्रोन से अवैध निर्माण चिह्नित करने की योजना बनाई गई थी। जो बाद में खटाई में पड़ गई।

TAGS: No tags found

Video Ad



Top