logo
Latest

वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने नारसन बॉर्डर अचानक पहुंचे, पाई गई कई खामियां


नारसन 27 अप्रैल। आज नारसन बॉर्डर पर बनी राज्य कर जांच चौकी का वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने औचक निरीक्षण किया। मौके पर कई खामियां पाई गई। जिसका उन्होंने राज्य कर के शीर्ष अधिकारियों को व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए। बुधवार को वित्त मंत्री अग्रवाल नारसन बॉर्डर पर बनी राज्यकर जांच चौकी पहुंचे। यहां सेल टैक्स ऑफिसर जगदीश जोशी कार्यरत मिले। जिस पर वित्त मंत्री ने चौकी की व्यवस्था और कार्यप्रणाली को लेकर जानकारी मांगी। जिस पर जोशी द्वारा बताया गया कि यहां पर एक ही कर्मचारी की तैनाती की गई है, बताया कि ड्यूटी 24 घंटे के आधार वह कार्य कर रहे है। जिस पर वित्त मंत्री ने नाराजगी व्यक्त की।

अग्रवाल ने कहा कि लगातार 24 घंटे कार्य करना किसी भी कर्मचारी के लिए संभव नहीं है। इसके बाद अग्रवाल ने पिछले एक दिन की चौकी के द्वारा की गई कार्रवाई की जानकारी मांगी। जिस पर उपस्थित अधिकारी द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं मिल सका। साथ ही कई फाइलें व्यवस्थित तरीके से देखने को नहीं मिली। अग्रवाल ने निरीक्षण करते हुए पाया कि कर्मचारियों की संख्या न होने के कारण साफ सफाई की व्यवस्था भी चरमरा रखी है।

यह भी पढ़ें: ऋषिकेश में नहीं थम रहा गंगा में डूबने के सिलसिला, एक और को गंगा ले गई आगोश में
अग्रवाल ने नाराजगी जताते हुए मौके से ही कमिश्नर सेल टैक्स इकबाल अहमद से फोन पर वार्ता की। अग्रवाल ने उन्हें निर्देश देते हुए कहा कि नारसन बॉर्डर उत्तराखंड-उत्तर प्रदेश का काफी अहम बॉर्डर है। यहां कर्मचारी की संख्या बढ़ाई जाए। साफ सफाई का विशेष ध्यान देते हुए प्रत्येक फाइल को सुव्यवस्थित तरीके से रखा जाए।

यह भी पढ़ें: एसडीएम संगीता कनौजिया का एम्स ने जारी किया हेल्थ बुलेटिन, अब ऐसी है तबियत
अग्रवाल ने कहा कि लगातार 24 घंटे किसी कर्मचारी से काम न लिया जाए। कहा कि कि प्रदेश का राजस्व बढ़ाने में राज्यकर की अहम भूमिका है। यह सुनिश्चित किया जाए कि राजस्व वृद्धि में प्रत्येक कर्मचारी द्वारा ईमानदारी से कार्य किया जाए। अग्रवाल ने कमिश्नर सेल टैक्स को सघन अभियान चलाकर राजस्व बढ़ाने के निर्देश दिए। कहा कि भविष्य में भी इस तरह के औचक निरीक्षण करेंगे।

TAGS: No tags found

Video Ad


Top