logo
Latest

दिव्यांगों के लिए विश्व स्तरीय नैब इंस्टिट्यूट फॉर दी ब्लाइंड और आई केयर सेंटर का शुभारम्भ


प्रसिद्ध बैंकर्स बिस्वा केतन दास व संजय प्रकाश तथा पीजीआई एडवांस आई सेंटर के विभागाध्यक्ष डॉक्टर एसएस पांडव ने किया उद्घाटन
 
इंस्टीट्यूट के आने से पंजाब के दिव्यांगों की एजुकेशनल, वोकेशनल ट्रेनिंग तथा एडवांस्ड आईटी की प्रणाली में बहुत बड़ा सुधार होने की पूरी संभावना : विनोद चड्ढा
मोहाली : मोहाली जिला में दिव्यांगों के लिये एक बहुत बड़ी सौगात के रूप में नैब इंस्टिट्यूट फॉर दी ब्लाइंड और आई केयर सेंटर का उद्घाटन किया गया। भारत के प्रसिद्ध बैंकर्स बिस्वा केतन दास, सीईओ, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग एंड फाइनेंस (आईआईबीएफ) और संजय प्रकाश, एमडी, एसबीआई फाउंडेशन (एसबीआईएफ) इसके उद्घाटन के लिए पधारे। इस इंस्टीट्यूट का निर्माण इन्ही दोनों संगठनों की मदद द्वारा किया गया हैं।
इस उपलक्ष्य पर पीजीआई एडवांस आई सेंटर के विभागाध्यक्ष डॉक्टर एसएस पांडव मौजूद थे। तथा पीजीआई के सहयोग से एक निःशुल्क नेत्र जाँच शिवर का आयोजन भी किया गया, जिसमे सरकारी स्कूलों के छत्रों की नेत्र जाँच की गई। वह 30 सियालब माजरी और खिज़राबाद के छात्र जिनका पिछले आई कैम्प में नेत्र जाँच किया था उनको ऐनके भेंट की गई। माजरी ब्लॉक चन्दपुर में सिसवा कुराली रोड पर स्थापित यह इंस्टिट्यूट दिव्यांगो के लिये एजुकेशनल, वोकेशनल ट्रेनिंग, रिहैबिलिटेशन तथा कंप्यूटर ट्रेनिंग और पंजाब में आम जनता के लिए निःशुल्क आई केयर और दिव्यांगो के लिए ऑक्यूपेशनल थेरेपी जैसी सुविधाओं से लैस है जिसे नेशनल एसोसिएशन फॉर दी ब्लाइंड (एनएबी) द्वारा संचालित किया जाता है।
एनएबी के अध्यक्ष विनोद चड्ढा ने कहा कि इस इंस्टीट्यूट के आने से पंजाब के दिव्यांगों की एजुकेशनल, वोकेशनल ट्रेनिंग तथा एडवांस्ड आईटी की प्रणाली में बहुत बड़ा सुधार होने की पूरी संभावना है।
बताया कि यह संस्था दृष्टिहीनों के लिये भारत में पिछले 72 साल से कार्य कर रही है। इसकी स्थापना मुंबई में 1952 में की गई और अब 28 स्टेट में अपनी उपस्थिति से भारत की सबसे बड़ी डिस्बिलिटी के क्षेत्र की एनजीओ है। नैब ब्लाइंड वेलफेयर के हर क्षेत्र में चण्डीगढ़ समेत पंजाब में पिछले 32 सालों से निःशुल्क सेवाएँ प्रदान कर रही है। इस इंस्टिट्यूट में पंजाब की जनता के लिए आई चेकअप की व्यवस्था की गई है। ऑटिज्म, सेरेब्रल पाल्सी, बौद्धिक विकलांगता और बहु विकलांगता वाले व्यक्तियों के लिए ऑक्यूपेशनल थेरेपी सेंटर का भी निर्माण किया गया है।
उन्होंने आगे बताया  कि ये गर्व की बात है कि आईआईबीएफ और एसबीआईएफ के दो विख्यात बैंकर्स ने इस अवसर की शोभा बढ़ायी। संजय प्रकाश ने नैब की ब्लाइंड वेलफेयर की गतिविधियों की जमकर सराहना की और आगे भी अपना योगदान देने  का आश्वासन दिया। बिस्वा केतन दास सीईओ, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग एंड फाइनेंस ने संस्था के शिक्षकगण और कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहन बढ़ाकर और उनका हौंसला अफजाई की।

TAGS: No tags found

Video Ad


Top