logo
Latest

दुखद खबर: उत्तराखंड के पूर्व वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री मोहन सिंह रावत गांववासी का निधन


देहरादून। उत्तराखंड की प्रथम सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आरएसएस और भाजपा के वरिष्ठ नेता मोहन सिंह रावत गांववासी का आज सुबह निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उनका कैलाश हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था।सरल – सहज व सादगीपूर्ण जीवन जीने वाले गांववासी विशेष तौर पर लोकप्रिय रहे। अविभाजित उत्तर प्रदेश की पौड़ी विधानसभा सीट से चुनाव जीते थे। वे नित्यानन्द स्वामी सरकार में मंत्री रहे। वे 84 वर्ष के थे। मोहन सिंह रावत ‘गांववासी’ साल-1996 में अविभाजित उत्तर प्रदेश की विधानसभा के लिए भाजपा के टिकट पर पौड़ी से विधायक चुने जाने के बाद नवंबर-2000 में उत्तराखंड राज्य गठन होने पर वे नित्यानंद स्वामी और भगत सिंह कोश्यारी के मुख्यमंत्रित्वकाल में कैबिनेट मंत्री रहे। मूल रूप से पौड़ी जिले के निवासी मोहन सिंह रावत ‘गांववासी’ ताउम्र बेहद ईमानदार और स्वच्छ छवि के नेता रहे।

उनके निधन पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गहरा दुख व्यक्त किया है। सोशल मीडिया पर सीएम ने लिखा कि, उत्तराखंड के पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता श्री मोहन सिंह रावत ‘गांववासी’ जी के निधन का समाचार अत्यंत दुःखद है। राज्य में संगठन की मजबूती में उनका योगदान सदैव अविस्मरणीय रहेगा। ईश्वर पुण्यात्मा को श्रीचरणों में स्थान एवं शोक संतप्त परिवारजनों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता मोहन सिंह रावत गांववासी के निधन पर दुख व्यक्त किया है । उनका जाने से पार्टी को अपूर्णीय क्षति हुई है जिससे समस्त भाजपा परिवार शोक संपत है । उन्होंने प्रार्थना करते हुए कहा, ईश्वर पुण्यात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान देने और परिजनों को इस असीम दुख सहने का सामर्थ्य प्रदान करे । उन्होंने कहा, गांववासी जी प्रदेश में भाजपा संगठन के प्रमुख आधार स्तंभों रहे हैं । राज्य में कोई ऐसा गांव नही है जहां जाकर उन्होंने पार्टी को मजबूत करने का काम न किया हो । उनके इसी अतुलनीय योगदान के कारण ही उन्हे गांववासी के उपनाम से जाना गया। लिहाजा समस्त भाजपा परिवार बेहद दुखी मन से उन्हे श्रद्धा सुमन अर्पित करता है ।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व काबीना मंत्री मोहन सिंह रावत गांववासी जी के आकस्मिक निधन पर गहरा शोक प्रकट करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।
अपने शोक संदेश में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने मोहन सिंह रावत गांव वासी के आकस्मिक निधन को राज्य की राजनीति के लिए अपूर्णीय क्षति बताते हुए गहरा शोक प्रकट कर उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की तथा उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की।
करन माहरा ने कहा कि स्व0 मोहन सिंह रावत गांववासी जी ने राज्य आन्दोलन में भी महती भूमिका निभाई थी। सरल हृदय एवं मृदुभाषी स्व0 गांववासी ने राज्य सरकार में काबीना मंत्री के रूप में अपनी सेवायें देते हुए क्षेत्र के विकास में अपना अमूल्य योगदान दिया जिसके लिए वे सदैव याद किये जायेंगे। उनका असमय आकस्मिक निधन प्रदेश की जनता की अपूर्णीय क्षति है। हम सब कांग्रेसजन उनकी आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना करते हैं कि भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें तथा उनके परिजनों को इस असहनीय दुःख को सहन करने की शक्ति देवें।
प्रदेश उपाध्यक्ष संगठन मथुरादत्त जोशी, प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना, प्रदेश महामंत्री विरेन्द्र पोखरियाल, सोशल मीडिया सलाहकार अमरजीत सिंह, प्रवक्ता गरिमा दसौनी, शीशपाल बिष्ट, राजेश चमोली, महेन्द्र सिंह नेगी गुरु जी, महानगर अध्यक्ष देहरादून डॉ0 जसविन्दर सिंह गोगी, आदि कांग्रेसजनों ने भी श्री गांववासी के निधन पर शोक प्रकट करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की।

नगर निगम की निर्वतमान मेयर ने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेता के तौर पर उत्तराखंड की राजनीति में एक विशिष्ट स्थान रखने वाले मोहन सिंह रावत गांववासी का निधन ना सिर्फ उत्तराखंड के राजनैतिक जगत के लिए एक बड़ा धक्का है साथ ही गढ़वाल की पारम्परिक देव संस्कृति के प्रचार प्रसार करने वालों के लिए भी गहरा आघात है।

 

TAGS: No tags found

Video Ad



Top