logo
Latest

डीएम के मोबाइल से अधिकारियों को अपने जा रहे थे संदेश, आश्चर्य में अधिकारी व खुद डीएम।


गढ़वाल/उत्तराखण्ड लाइव: टार्जन ​दी वंडर कार में फिल्म में आपने देखा होगी कि किस तरह एक कार अपने आप सड़क पर दौड़ती है। कुछ ऐसा ही मामला रूद्रप्रयाग जिले के डीएम साहब के साथ हुआ है। रहस्यमयी ढ़ंग से डीएम साहब के मोबाइल से व्हाट्सएप मैसेज अधिकारियों को जा रहे थे। जिसमें अधिकारियों को खूब फटकार लगाई जा रही थी। अधिकारियों ने जब मामला डीएम साहब को बताया तो मामला सामने आया। इस बात ने डीएम साहब को भी आश्चर्य में डाल दिया।
दरअसल रुद्रप्रयाग जिले के डीएम मनुज गोयल के नाम पर उन्हीं के व्हाट्सएप नंबर के जरिए अधिकारियों को मैसेज गया जिसमें अधिकारियों को डीएम द्वारा उनके फोन न उठाने को लेकर धमकाया जा रहा था। अधिकारियों ने आश्चर्य जताया कि सभी को यह मैसेज क्यों आए जबकि सब जिलाधिकारी का फोन उठाते हैं। इस मामले में डीएम से शिकायत की गई तब जाकर हकीकत सामने आई।

पता चला कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने जिले की वेबसाइट से डीएम रुद्रप्रयाग की फोटो डाउनलोड कर फर्जी व्हाट्सएप नम्बरों के जरिए डीएम की डीपी लगा कर अधिकारियों को मैसेज भेजे हैं। पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है। वहीं डीएम ने सभी अधिकारियों को निर्देश देकर सतर्क रहने को कहा है। दरअसल कोई अज्ञात व्यक्ति जनपद रुद्रप्रयाग की वेबसाइट से विभिन्न व्हाट्सएप नंबरों के जरिए अफसरों को मैसेज भेज रहा है।

इसको संज्ञान में लेते हुए डीएम रुद्रप्रयाग मनुज गोयल ने फर्जी गतिविधियों के प्रति अफसरों को सतर्क कर दिया है और उन्होंने कहा है कि किसी नंबर से डीएम के नाम से मैसेज आए तो शीघ्र अति शीघ्र इसकी सूचना पुलिस अधीक्षक को दी जाए। डीएम ने कहा है कि पुलिस आरोपी तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। जिलाधिकारी ने कहा है कि अगर किसी अन्य नंबर से उनके नाम से मैसेज आता है तो पुलिस अधीक्षक को इस बारे में अवगत कराया जाए।

TAGS: No tags found

Video Ad



Top