logo
Latest

जनपद पौड़ी में विजय दिवस के कार्यक्रम को धूमधाम से मनाया गया


पौड़ी : भारत की 1971 को पाकिस्तान पर गौरवशाली विजय के उपलक्ष्य में जनपद में विजय दिवस को रंगारंग कार्यक्रमों के साथ धूमधाम से मनाया गया।कार्यक्रम की शुरूआत सर्वप्रथम स्कूली छात्र-छात्राओं से ऐजेंसी चौक से मार्च-पास्ट से हुई, जिसका प्रेक्षागृह में समापन हुआ। तत्पश्चात शहीद स्मारक पर मुख्य अथिति मा0 विधायक राजकुमार पोरी और पूर्व सैनिकों द्वारा शहीदों के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए शहीदों का जयकारा किया गया।

   कार्यक्रम की अगली कड़ी में 1971 युद्व के वीर सैनिकों व वीर नारियों और उनके परिजनों का प्रेक्षागृह में स्वागत-सम्मान किया गया। इस दौरान 1971 के युद्व की डॉक्यूमेंट्री की झलकियां दिखायी गयी, सांस्कृतिक कार्यक्रम, अभिभाषण और विजय दिवस विषय पर संबोधन किया गया।

मुख्य अथिति स्थानीय विधायक राजकुमार पोरी द्वारा शहीदों को श्रद्धाजंलि देते हुए शहीदों के परिजनों और 1971 के वीर सैनिकों को सम्मानित किया गया।इस दौरान स्थानीय विधायक ने अपने संबोधन में कहा कि हमें देश पर मर-मिटने वालों को कभी भी नहीं भूलना चाहिए क्योंकि उनकी ही बदौलत हमारा गौरव बना हुआ है। उन्होंने 1971 के युद्व के शहीदों की शहादत को स्मरण करते हुए उनके जीवन से देश सेवा की प्रेरणा लेने का आग्रह किया। उन्होंने स्कूली बच्चों से भी अपने उत्थान के साथ-साथ देश के उत्थान के बारे में भी हमेशा सकंल्पबद्व रहने का आग्रह किया।

जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल ओपी फरस्वाण ने 1971 के युद्व का स्मरण कराते हुए बताया कि भारतीय सेना ने बांग्ला की मुक्ती वाहिनी सेना की सहायता करते हुए मात्र 13 दिन में ही पाकिस्तानी सेना को आत्मसमर्णण करने को मजबूर कर दिया।


उन्होंने कहा कि इस युद्व में उत्तराखंड के कुल 255 सैनिक शहीद हुए थे, जिसमें से 33 सैनिक पौड़ी गढ़वाल के शामिल थे।
विजय दिवस के अवसर पर मुख्य अथिति ने 1971 युद्व के वीर सेनानी व उनके परिजनों को सम्मानित किया। जिसमें ऑनररी कैप्टन सत्यप्रकाश धस्माना, ख्यात सिंह की पत्नी छैला देवी, रघुनाथ सिंह की पत्नी सुशीला देवी, ब्रहमानन्द की पत्नी आनन्दी देवी, नायक बसन्त सिंह, शहीद ला0ना0 प्रेम सिंह की पुत्री रामेश्वरी देवी, शहीद इन्द्र सिंह रावत के पुत्र दरबान सिंह, शहीद दयाल सिंह रावत के भाई कृपाल सिंह, शहीद राजे सिंह के भतीजा कलम सिंह, शहीद उमा नन्द की पत्नी विमला देवी, ऑनरेरी कैप्टन दरवान सिंह के पुत्र जय प्रकाश व, हवलदार महिपाल सिंह, कैप्टन मातवर सिंह, हवलदार बीएस भंडारी,, सूबेदार भागचंद रावत, बख्तावर सिंह, होशियार सिंह सूबेदार अनुसूया बडूनी, हवलदार ओम प्रकाश काला, कल्याण सिंह, बासुदेव सिंह, मंगल सिंह, सूबेदार रघुबीर सिंह, सुभाष चन्द्र का शॉल ओढ़कर सम्मानित किया।
इसके अलावा उन्होंने निबंध प्रतियोगिता में डीएवी इंटर कॉलेज पौड़ी की अंजलि प्रथम, मैसमोर इंटर कॉलेज मोनाली द्वितीय व राजकीय कन्या इंटर कॉलेज पौड़ी की प्रियांशी तृतीय व चित्रकला प्रतियोगिता में राजकीय कन्या इंटर कॉलेज पौड़ी कविता प्रथम, राइका पौड़ी अनुराग खंडूड़ी द्वितीय और राइका पौड़ी के शिफात अली तृतीय को पुरस्कार देकर सम्मानित किया।


वहीं उन्होंने विजय दिवस के उपलक्ष्य में 14 दिसम्बर को आयोजित हुई क्रॉस कंट्री दौड़ में अव्वल प्रतिभागियों को सम्मानित किया। जिसमें अंडर-14 बालक वर्ग में मुकुल प्रथम, अमन द्वितीय, अर्जुन तृतीय, आशुतोष चतुर्थ, प्रथम पंत पंचम व बालिका वर्ग में तानिया प्रथम, पूजा द्वितीय, आंचल तृतीय, खुशी चतुर्थ, संतोषी पंचम स्थान हासिल किया। साथ ही अंडर-17 बालक वर्ग में अनुज प्रथम, विनीत कुमार द्वितीय, धर्मेश तृतीय, अनिकेत चतुर्थ, जीवन पंचम व बालिका वर्ग में सिमरन गुसांई प्रथम, निधि द्वितीय, खुशबू तृतीय, खुशी रावत चतुर्थ, अनुष्का बिष्ट पंचम स्थान पर रही । साथ ही ओपन पुरूष वर्ग नीरज प्रथम, मोहित भंडारी द्वितीय, विशाल तृतीय, अभिषेक चतुर्थ, गौरव पंचम व ओपन महिला वर्ग में मीनाक्षी नेगी प्रथम, कंचन द्वितीय, सिमरन तृतीय, ईरम चतुर्थ, कृतिका पंवार ने पंचम स्थान प्राप्त किया।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी ईला गिरी, अपर पुलिस अधिक्षक कोटद्वार जया बलूनी, सीओ सदर श्याम दत्त नौटियाल, मुख्य शिक्षाधिकारी दिनेश गौड़ सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, पूर्व सैनिक, स्कूली छात्र-छात्राएं व अन्य उपस्थित थे।

TAGS: No tags found

Video Ad


Top