logo
Latest

“नज़र क्या बदली, नज़ारा बदल गया…”


चण्डीगढ़ : : चण्डीगढ़ संगीत नाटक कला अकादमी ने कलाग्राम में चल रहे क्राफ्ट मेले में “युवा कवि सम्मेलन” का शानदार आयोजन किया। अकादमी के उप चेयरमैन विक्रांत सेठ ने बताया कि ट्राईसिटी के नामी कवियों एवं शायरों ने अपनी सशक्त शायरी और कविताओं से पूरा मेला गुलज़ार कर दिया।

 

कार्यक्रम का संचालन करते हुए राष्ट्रीय कवि डॉ. अनीश गर्ग ने अपने तेवर में शायरी करते हुए कहा,”नज़र क्या बदली नज़ारा बदल गया.. फ़िज़ूल का सामान हटाते ही घर सारा बदल गया”, युवा शायर यश कांसल ने अपनी शायरी को यूं ब्यान किया “उसे दुनिया चलानी है, मुझे भी घर चलाना है”, डेज़ी बेदी ने तरन्नुम में कहा,”बेटी हूं तो क्या हुआ, मुझे बेटों सा सम्मान दो”, सविता गर्ग ने हरियाणवी में कविता पढ़ते कहा,”गुड़ की चा जे पीणी हो तो आ जाइयो हरियाणे मैं”, प्रतिभा गुप्ता ने ग़ज़ल से रंग भरते कहा,”खरामा खरामा चले आ रहे थे, क़यामत बने वो गज़ब ढा रहे थे” , अश्विनी शांडिल्य ने रोटी पर पंक्तियां रखीं,”धरती से आसमान तक उठाती है रोटियां”, अंजु अमनदीप ग्रोवर ने पंजाबी में पंक्तियां दर्ज़ कईं,”ज़िंदगी तेरे अजब तमाशे ने..कदे रोने ते कदे हासे ने”, युवा शायर तरसेम ने ,”वो कहते हैं रग-ऐ-जआं से गुज़रेगा.. मुझे डर है इम्तिहां से गुज़रेगा”। अकादमी के चेयरमैन सुदेश शर्मा ने स्मृति चिन्ह देकर सब कुछ सम्मानित किया। इस कार्यक्रम में विशेष तौर पर चार्टर्ड अकाउंटेंट रमन सेठ, निफड के निदेशक अमनदीप सिंह व सुनीता एंजेल आदि उपस्थित रहे।

TAGS: No tags found

Video Ad